रामनगरी में राम जन्मभूमि पर भव्य निर्माण सहित पांच सूत्रीय मांगों को लेकर अयोध्या के कारसेवकपुरम से रामेश्वरम तक चलने वाली राम राज्य रथ यात्रा का शुभारंभ कारसेवक पुरम परिसर से हो रहा है। जिसमें बड़ी संख्या में अयोध्या के साधु संत और हिंदू समाज के लोग शामिल हैं।  कारसेवकपुरम परिसर में चल रही सभा के बाद राम राज्य रथ यात्रा अयोध्या से रामेश्वरम के लिए रवाना होगी। इस दौरान यह यात्रा देश के चार अलग-अलग राज्यों से होकर गुजरेगी और हर राज्य में राम मंदिर निर्माण के लिए जागरुकता कार्यक्रम के साथ इस यात्रा का समापन 24 मार्च को रामेश्वरम में होगा। इस दौरान यह यात्रा देश के चार अलग-अलग राज्यों से होकर गुजरेगी और हर राज्य में राम मंदिर निर्माण के लिए जागरूकता कार्यक्रम के साथ इस यात्रा का समापन 24 मार्च को रामेश्वरम में होगा। यह रथ यात्रा करीब छह हजार किलोमीटर लम्बा सफर तय करेगी। यह यात्रा उत्तर प्रदेश के वाराणसी, प्रयाग, चित्रकूट शहरों के अलावा मध्य प्रदेश के सागर, भोपाल, उज्जैन होते हुए महाराष्ट्र के पंढरपुर बीजापुर और बेंगलुरु व मैसूर होते हुए रामेश्वरम पहुंचेगी।

कारसेवक पुरम में हो रही सभा में कार्यक्रम आयोजक स्वामी कृष्णानंद सरस्वती और श्री शक्ति शांतानंद महर्षि महाराज के अलावा मणिराम छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमल नयन दास, रंग महल के महंत राम शरण दास, महंत नारायानाचारी, विहिप के अंतर्राष्ट्रीय महामंत्री चम्पत राय समेत अयोध्या के अन्य वरिष्ठ संत शामिल हैं।